खाते में धरे रह गए करोड़पति स्वीपर के 70 लाख, टीबी से हुई मौत, 10 साल से नहीं निकाली थी सैलरी

खाते में धरे रह गए करोड़पति स्वीपर के 70 लाख, टीबी से हुई मौत, 10 साल से नहीं निकाली थी सैलरी प्रयागराज समाचार: धीरज के पिता की मृत्यु कुष्ठ विभाग में सफाई कर्मचारी के रूप में कार्य करने के दौरान हो गई थी।

नतीजा यह हुआ कि 2012 में बेटा अनुकंपा हो गया। नियुक्ति मिलने के बाद से उसने बैंक से अपना वेतन नहीं निकाला था। धीरज अपना इनकम टैक्स भी चुकाता था।

Read Also- भारतीय रेलवे: एस्टास इंस्टालेसिओनेस इस्टन डिस्पोनिबल्स डे फॉर्मा टोटलमेंट ग्रैटुइटा सी वियाजा कॉन निनोस एन एल ट्रेन, इंफॉर्मिस होय

प्रयागराज में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) कार्यालय के कुष्ठ विभाग के करोड़पति स्वीपर धीरज को तो आपको याद ही होगा, जिन्होंने करीब 10 साल से अपना वेतन बैंक खाते से नहीं निकाला था. करोड़पति सफाईकर्मी की अब टीबी की बीमारी से मौत हो गई है। मेरे खाते में करीब 70 लाख रुपये बचे हैं.

धीरज प्रयागराज के जिला कुष्ठ विभाग में सफाईकर्मी और चौकीदार के रूप में काम करता था। इस साल उसकी तलाश में बैंकरों को पता चला कि वह करोड़पति है। शनिवार को धीरज की टीबी की बीमारी से मौत हो गई।

दरअसल, धीरज के पिता इसी विभाग में स्वीपर का काम करते थे और ड्यूटी के दौरान उनकी मौत हो गई थी। इसके बाद धीरज को मृतक के आश्रित के रूप में नियुक्त किया गया और 2012 से इस विभाग में कार्यरत है।

Follow US On Google NewsClick Here
 Facebook PageClick Here
 Telegram Channel WbseriesClick Here
 TwitterClick Here
Second TelegramClick Here
Join Whatsapp

Leave a Comment